Lajawab Shayari

 Lajawab Shayari

Lajawab Shayari in Hindi (लाजवाब शायरी) Shayari On Lajawab page pe aap ka swagat hai aaj humne best lajwab shayari post kiye hai ummed karte hai ki aap ko lajwab shayari psand aayenge.

 

ना जाने क्यों वो हमें मुस्कुरा के मिलते है
अंदर से सारे गम छुपा कर मिलते है
जानते हैं आँखे सच बोल जाती है
शायद इसी लिये वोनज़र झुका कर मिलते है

Ghamand Shayari in Hindi

तुम मिल गए तो मुझ से नाराज है खुदा
कहता है कि तू अब कुछ माँगता नहीं है

किसी ने पूछा सच्ची मोहब्बत की निशानी क्या है.
मैंने कहा इसके बाद किसी से मोहब्बत न हो

न जाने किस तरह का इश्क कर रहे हैं हम
जिसके हो नहीं सकते उसी के हो रहे हैं हम

Related post

Leave a Reply

Your email address will not be published.