Milna Mukaddar Mein Likha Nahi – मिलना मुकद्दर में लिखा नहीं

 Milna Mukaddar Mein Likha Nahi – मिलना मुकद्दर में लिखा नहीं

जिनका मिलना मुकद्दर में लिखा नहीं होता,
उनसे मोहब्बत कसम से बा-कमाल होती है।
Jinka Milna Mukaddar Mein Likha Nahi Hota,
Unse Mohabbat Kasam Se Ba-Kamaal Hoti Hai.

दिल से पूछो तो आज भी तुम मेरे ही हो,
ये ओर बात है कि किस्मत दगा कर गयी।
Dil Se Poochho To Aaj Bhi Tum Mere Hi Ho,
Ye Aur Baat Hai Ki Kismat Dagaa Kar Gayi.

जाने किस बात की उनको शिकायत है मुझसे,
नाम तक जिनका नहीं है मेरे अफ़साने में।
Jaane Kis Baat Ki Unko Shikayat Hai Mujhse,
Naam Tak Jinka Nahi Mere Afsaane Mein.

काश कि वो लौट के आयें मुझसे ये कहने,
कि तुम कौन होते हो मुझसे बिछड़ने वाले।
Kash Ke Wo Laut Ke Aayein Mujhse Ye Kehne,
Ke Tum Kaun Hote Ho Mujhse Bichhadne Wale.

Related post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *