Zid shayari in Hindi

 Zid shayari in Hindi

ज़िद्दी हूँ पलट आता हूँ तेरी गली में,
पथ्थर तो पहले भी सौ भर लगे हैं मुझे.

Related post

Leave a Reply

Your email address will not be published.