Dil Shayari

 Dil Shayari

Hajaron Na Mukammal Hasraton Ke Bojh Tale,
Dil Ab Bhi Dhadakta Hai To Kamaal Karta Hai.
हजारों ना-मुकम्मल हसरतों के बोझ तले,
दिल अब भी धड़कता है तो कमाल करता है।

Tamam Umar Isee Justajoo Main Gujri Hai,
Kabhi Samajh Mein Nahi Aaya Masahla Dil Ka.
तमाम उम्र इसी जुस्तजू में गुजरी है,
कभी समझ में नहीं आया मसहला दिल का।

Related post

Leave a Reply

Your email address will not be published.