Tags :Hindi Suvichar

Hindi Suvichar

Hindi Suvichar

Tum Pani Jaise Bano Jo Apna Rasta Khud Banata Hai Jo Dusro Ka Bhi Rasta Rok Leta Hai तुम पानी जैसे बनो जो अपना राश्ता खुद बनाता है जो दूसरों का भी रिश्ता रोक लेता है आँधियों ने बड़ा ऊँचा उठाया धूल को पर दो बूँद बारिश ने फिर ज़मीन में मिला दिया Aandhiyon Ne […]More Shayari