Tags :Facebook Shayari

Facebook Shayari

Facebook Shayari

तुझे सरे आम पुकारने के लिए जानाँ, तेरे नाम की बिल्ली पाल रखी है।  तेरी याद से तो बिल्ली अच्छी है, वो तो बोलती है, मैं आऊँ… मैं आऊँ…  तु मिल गई है तो मुझ पे नाराज है खुदा  कहता है की तु अब कुछ माँगता नहीं है.More Shayari